loading...
loading...
Home Blog Page 2

आज बुधवार है गणेश जी का वार है आज इन लोगो को गणेश जी देने वाले है ये खुशखबरी। … जाने क्या लिखा है आपके भाग्य में

0

आज आषाढ़ कृष्ण पक्ष की द्वितीया तिथि और बुधवार का दिन है ।साथ ही आज शाम 06 बजकर 56 मिनट तक ब्रह्म योग और आज दोपहर 01 बजकर 30 मिनट तक राज योग रहेगा। जानें आचार्य इंदु प्रकाश से कैसा रहेगा आपका दिन।

इसके अलावा आज दोपहर 01 बजकर 30 मिनट तक पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र भी रहेगा। अत: आज के दिन ब्रह्म योग, राज योग और पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र के संयोग का आप कैसे फायदा उठा सकते हैं,

इस दौरान कौन से विशेष उपाय करके आप शुभ फलों की प्राप्ति कर सकते हैं, आज हम इस सबकी चर्चा करेंगे।

मेष:

आज चंद्रमा धनु उपरांत मकर राशि पर संचार करेगा। और इसका शुभ फल कई राशियों को मिल रहा है। सिंह राशि पर किस्मत आज खूब मेहरबान है। देखिए आपकी किस्मत के सितारे क्या कहते हैं। सबसे पहले देखिए मेष राशि के सितारे क्या कहते हैंः-

आज आपकी धार्मिक प्रवृत्ति और समाज में मान-प्रतिष्ठा बढ़ेगी। इससे विरोधी परास्त होंगे और यात्रा लाभकारी रहेगी।

व्यापार-धंधे के संबंध में प्रवास होगा और उसमें लाभ होगा। व्यवसाय के क्षेत्र में आपको लाभ, मान और प्रतिष्ठा की प्राप्ति होगी। नौकरी में प्रमोशन मिलेगा। भाग्य 70% साथ देगा।

वृष
समाज में आपका यश और इज्जत बढ़ेगी। दफ्तर में कोई खुशखबरी मिल सकती है। प्रेमी जोड़ों के लिए अच्छा समय है। कुंवारे लोगों की जिंदगी में भी कोई विशेष व्यक्ति आएगा।

घर में खुशियां आएंगी और परिवार का भी सहयोग मिलेगा। कोई भी वित्तीय फैसला लेने या शेयर मार्केट में निवेश करने से पहले शांति से सोचें। आप में ऊर्जा का संचार रहेगा, उसका सही दिशा में उपयोग करें।

भागेदारी में अहंकार या क्रोध के कारण रिश्ते तनावपूर्ण रह सकते हैं। काम और परिवार के बीच अच्छा संतुलन बनाए रखने की आवश्यकता है।

वृषभ:

आज परिश्रम अधिक और लाभ कम हो सकता है लेकिन मेहनत करते रहें। कार्यों में बाधाएं आ सकती हैं। आज यात्रा न करें और वाहन सावधानी पूर्वक चलाएं। धन खर्च भी हो सकता है।

पारिवारिक सदस्य और ऑफिस में सहकर्मियों के साथ मनमुटाव ना हो, ध्यान रखें। ईश्वर की आराधना, जप और आध्यात्मिकता आपको शांति का अनुभव कराएंगे। भाग्य 65% साथ देगा।

मिथुन राशि –

आज ऑफिस के काम में आपको कई चुनौतियां आ सकती हैं ।आपको अपने किसी खास काम में मित्र की मदद मिलेगी ।आपका काम पूरा होगा ।जीवनसाथी के साथ रिश्ते बेहतर होंगे ।

आप अपने भविष्य के बारे में किसी दूसरे व्यक्ति से विचार-विमर्श करेंगे ।घर पर अचानक से कोई मेहमान आ सकता है। नौकरीपेशा लोगों को लाभ मिलेगा । सेहत के मामले में आप तंदरुस्त रहेंगे ।आज दोस्तों के साथ आपका समय अच्छा बीतेगा ।आपको संतोष की भावना का अनुभव होगा ।माँ दुर्गा को उबले हुए चने का भोग लगाएं, सभी काम सफल होंगे

कर्क

आज का दिन मिश्रित परिणाम देने वाला रहेगा। आप दूसरों पर अपने शब्दों से प्रभाव डालेंगे। लेकिन आपकी सेहत आपका सहयोग नही करेगी। मौसमी बीमारियां परेशान कर सकती हैं, अपना ध्यान रखें। जीवनसाथी के साथ कुछ वाद-विवाद हो सकता है।

किन्तु अंत में सब ठीक हो जाएगा। व्यावसायिक संदर्भ में कही दूर की यात्रा संभव है। क्रोध या आवेश को प्रेम के बीच न आने दें, तो बेहतर रहेगा। अपने साथी के जज्बातों की कद्र करें।

सिंह राशि –

आज किसी काम से भागदौड़ अधिक हो सकती है ।परिवार के किसी सदस्य से आपकी थोड़ी अनबन होने की संभावना है ।आप अपने खर्चों को लेकर सोच-विचार में डूबे रह सकते हैं आपको कोई नया काम सिखने का अवसर मिलेगा ।

इससे आपको लाभ होगा ।कार्यस्थल पर सहयोगी के साथ आपको अच्छा व्यवहार बनाकर रखना चाहिए ।किसी से भी बिना वजह उलझने से आपको बचना चाहिए ।आज घर में मेहमान के आने से घर का माहौल खुशनुमा बन जायेगा । माँ दुर्गा को श्रृंगार का सामान अर्पित करें, आपके साथ सब अच्छा होगा ।

कन्या:

आज का दिन मिश्रित फलदायी होगा। आज कोई नया कार्य न करें, जोखिमपूर्ण निवेश करने से बचें। पूरे दिन किसी से वाद-विवाद में न पड़ें, क्रोध पर नियंत्रण रखें, अन्यथा हानि हो सकती है। स्वास्थ्य का विशेष रूप से ध्यान रखें। क्रोध और वाणी पर संयम रखें, अन्यथा हानि हो सकती है। भाग्य 60% साथ देगा।

तुला

परिवार और संतान से खुशियां प्राप्त होंगी। आप उनके साथ किसी मनोरंजक स्थल पर घूमने जाएंगे। आपके सामाजिक दायरे में वृद्धि होगी। किसी से दिल दुखाने वाली बात ना करें। अचानक से पैसों की बरसात हो सकती है।

आमदनी के नए साधन बनेंगे या आपको कोई फायदे की डील मिलेगी। दूसरों पर आपके प्रभाव में वृद्धि होगी। प्रेम-संबंधों के लिए दिन मिला-जुला रहने वाला है। कोई आपको प्रपोज कर सकता है, अथवा शैक्षणिक संस्थान में आपको कोई पसंद आ सकता है। अपच के कारण आपको स्वास्थ्य संबंधी समस्या हो सकती है।

वृश्चिक राशि –

आज आपके काम बड़े आराम से पूरे होंगे ।आपको अपनी मान-प्रतिष्ठा बनाये रखने के लिये समाज के कार्यों में सहयोग देना चाहिए ।आप किसी दोस्त की बर्थडे पार्टी में जा सकते हैं ।आप किसी काम के लिये नई योजना बना सकते हैं ।

आपको दूसरों के सामने अपनी बात खुलकर रखनी चाहिए ।इससे चीज़ें स्पष्ट रहेंगी । आपकी आर्थिक स्थिति पहले से बेहतर होगी । संतान की ओर से आपको सुख मिलेगा ।दुर्गा जी को हलवे का भोग लगाएं, मान-सम्मान में बढ़ोतरी होगी ।

धनु

भाग्य आज आपके साथ है। आज रुके हुए कार्यों को आगे बढ़ाने में बहुत मदद मिलेगी। पराक्रम और उत्साह में वृद्धि रहेगी। काम में मन लगेगा और मेहनत के अनुसार परिणाम भी आएगा। इस समय पूरे मन से किया हुआ कोई भी कार्य परिणाम अवश्य देगा।

शिक्षा के क्षेत्र में कार्य करने वालों को या शिक्षार्थियों को थोड़ी परेशानी उठानी पड़ सकती है। पुरुष जातकों को स्त्रियों से और स्त्री जातकों को किसी पुरुष से बहुत सार्थक सहयोग मिलेगा। विवाहित लोग अपने जीवनसाथी के साथ उचित व्यवहार रखें और संवादहीनता को न पनपने दें, अन्यथा वैचारिक मतभेद हो सकता है।

मकर:

आज खर्च की अधिकता हो सकती है, व्यर्थ व्यय से बचें। किसी न किसी कारण से अनावश्यक खर्च और व्यर्थ की यात्रा भी हो सकती है। विलंब से कार्य पूरा होगा।

महत्त्वपूर्ण निर्णय लेना हितकर नहीं है। पारिवारिक सदस्यों के साथ गलतफहमी टालने का प्रयास करें। दूर बसने वाले मित्र या स्नेही के समाचार या संदेश आपको लाभदायक साबित होंगे। भाग्य 62% साथ देगा।

कुंभ

प्रतियोगिता में हिस्सा लेने वालों के लिए आज का दिन मिश्रित परिणामदायक हो सकता है। व्यावसायिक कार्यों में कुछ अनावश्यक तनाव उत्पन्न हो सकता है, जिसके कारण आपका मन थोड़ा विचलित हो सकता है।

किसी भी प्रकार के व्यापारिक निर्णय जिसमे आर्थिक जोखिम शामिल हों, उसके लिए समय उपयुक्त नहीं है। प्यार करने वालों के लिए यह समय सहयोगी है। पारिवारिक जीवन में भी समय अनुकूल रहेगा। किन्तु कोई भी निर्णय आवेश में ना लें। कर्ज देना इस समय परेशानी पैदा करने वाला होगा, अतः इससे बचें।

मीन राशि –

आज काम से निपट लेने के बाद आप रिलेक्स महसूस करेंगे ।आपको किसी मामले में बड़ा निर्णय लेना पड़ सकता है ।आप अपने दोस्तों के साथ बाहर जाकर कुछ ख़ुशी के पल बितायेंगे ।आज कुछ जरूरी चीजें आपको फायदा दिलायेगी ।

कारोबारियों को किसी से जरूरी मुलाकात करनी पड़ सकती है ।धन के मामले में स्थिति बेहतर रहेगी ।आप परिवार वालों के लिए समय निकालेंगे ।उनकी सलाह आपके लिये महत्वपूर्ण रहेगी ।मछलियों को आटे की गोलियां बनाकर खिलाएं, स्वास्थ्य बेहतर बना रहेगा ।

loading...

PM मोदी ने फिर चौंकाया, मेनका गाँधी नहीं बल्कि ये …. होंगे लोकसभा के नए स्पीकर

0

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक बार चौंकाया है. राजस्थान के कोटा से बीजेपी सांसद ओम बिड़ला लोकसभा के नए स्पीकर होंगे. लोकसभा अध्यक्ष का नाम घोषित किए जाने के साथ ही पीएम मोदी ने एक बार फिर अपने फैसले से सबको चौंका दिया है.

लोकसभा अध्यक्ष का चुनाव आज होना है. लिहाजा लोकसभा स्पीकर के पद को लेकर तमाम तरह की अटकलें लगाई जा रही थीं. बीजेपी से जीतकर आए वरिष्ठ नेताओं के नाम पर मंथन चल रहा था.

लोकसभा अध्यक्ष बनने की रेस में पूर्व केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी, राधामोहन सिंह, रमापति राम त्रिपाठी, एसएस अहलुवालिया और डॉ. वीरेंद्र कुमार जैसे कई दिग्गज नेताओं के नाम शामिल बताए जा रहे थे. मोदी सरकार के 2.0 में लोकसभा अध्यक्ष के पद पर कौन विराजमान होगा, इसका फैसला अब हो गया.

बहरहाल, राजस्थान के कोटा से बीजेपी सांसद ओम बिड़ला लोकसभा के नए स्पीकर होंगे. ओम बिड़ला आज ही अपना नामांकन दाखिल करेंगे, जिसके बाद बुधवार को सदन में इसपर मतदान होगा. क्योंकि NDA के पास लोकसभा में बहुमत है, ऐसे में उनका ही लोकसभा स्पीकर बनना तय माना जा रहा है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक बार फिर चौंकाया है. राजस्थान के कोटा से बीजेपी सांसद ओम बिड़ला लोकसभा के नए स्पीकर होंगे. लोकसभा अध्यक्ष का नाम घोषित किए जाने के साथ ही पीएम मोदी ने एक बार फिर अपने फैसले से सबको चौंका दिया है

आखिर क्यों मोदी-शाह ने लोकसभा अध्यक्ष पद के लिए बिड़ला को चुना?

मंगलवार सुबह जैसे ही यह खबर आती है कि ओम बिड़ला अगले लोकसभा अध्यक्ष हो सकते हैं, सभी पॉलिटिकल पंडित के आंकलन फेल हो गए।

भाजपा सांसद ओम बिड़ला लोकसभा अध्यक्ष पद के लिए NDA के प्रत्याशी होंगे। भाजपा ने राजस्थान के कोटा-बूंदी संसदीय सीट से जीतने वाले बिड़ला को नामित किया गया है। वह आसानी से अध्यक्ष बन जाएंगे क्योंकि सदन में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन के पास स्पष्ट बहुमत है।

अगर आवश्यक हुआ तो इस पद के लिए चुनाव बुधवार को कराया जा सकता है। जब लोकसभा अध्यक्ष पद के लिए पूर्व केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी, राधामोहन सिंह, रमापति राम त्रिपाठी, एसएस अहलुवालिया और डॉ. वीरेंद्र कुमार जैसे कई बड़े नामों की चर्चा हो रही थी ऐसे में अचानक से भाजपा की ओर से ओम बिड़ला का नाम चौंकाने वाला है।

मोदी और शाह के लिए एक बात जो लगातार कहीं जाती है वह यह है कि वो दोनों ऐसे निर्णय लेने में माहिर हैं जिसकी कोई कल्पना नहीं कर सकता है। उदाहरण के तौर पर थोड़ा पीछे चलते हैं और याद करते हैं 2017 को जब राष्ट्रपति पद को लेकर सभी कई नामों के कयास लगा रहे थे।

लेकिन उस वक्त में भी मोदी-शाह ने रामनाथ कोविंद का नाम आगे कर तमाम अटकलों को धता बता दिया। इसके अलावा रक्षा मंत्रालय का जिम्मा अचानक निर्मला सितारमण को दिया जाना। मोदी और शाह मीडिया की कम और अपनी ज्यादा सुनते हैं।

इस बार सरकार गठन के समय मोदी ने NDA सासंदों से कहा था कि मंत्रिमंडल को लेकर मीडिया में आ रही खबरों पर ध्यान ना दें क्योंकि यह तय करना मेरा काम है ना कि मीडिया का। इस से साफ जाहिर होता है कि मोदी और शाह के जो भी फैसले होते हैं,

वह हैरान करने वाले होते हैं और तमाम विश्लेषण धरे के धरे रह जाते हैं। ओम बिड़ला के संदर्भ में भी ठीक ऐसा ही हुआ है। लगातार सात बार के सांसद वीरेन्द्र कुमार को जब लोकसभा का प्रोटेम स्पीकर नियुक्त किया गया तो ऐसा कहा जाने लगा कि शायद यह ही अगले अध्यक्ष होंगे।

मंगलवार सुबह जैसे ही यह खबर आती है कि ओम बिड़ला अगले लोकसभा अध्यक्ष हो सकते हैं, सभी पॉलिटिकल पंडित के आंकलन फेल हो गए। ओम बिड़ला का नाम चर्चा में इसलिए भी नहीं था क्योकिं वह इस बार दूसरी दफा चुनाव जीत कर संसद पहुंचे हैं,

जिसका मतलब साफ है कि उन्हें संसदीय राजनीति का कोई खास लंबा अनुभव नहीं है। अब तक लोकसभा के अध्यक्ष पद उसी व्यक्ति को दिया गया है जिन्हें संसदीय राजनीति का लंबा अनुभव रहा हो।

अब तक बलराम जाखड़, शिवराज पाटिल, मनोहर जोशी, पीए संगमा, सोमनाथ चटर्जी, मीरा कुमार और सुमित्रा महाजन जैसे दिग्गज इस पद पर आसीन हो चुके हैं। ऐसे में ओम बिड़ला का नाम विपक्ष को भी चौका रहा है हालांकि विपक्ष ने उनके खिलाफ कोई उम्मीदवार नहीं उतारने का फैसला किया है।

चलिए आपको बताते हैं कि ओम बिड़ला कौन हैं? वर्तमान में कोटा से सांसद ओम बिड़ला का जन्म 23 नवंबर 1962 को हुआ था। वह पहली बार 2014 में सांसद बने थे। अपनी राजनीति की शुरूआत उन्होंने भारतीय जनता युवा मोर्चा से की जहां वह उपाध्यक्ष के पद तक पहुंचे।

इससे पहले दक्षिण कोटा से वह तीन बार विधायक हर चुके हैं। वसुंधरा राजे की सरकार में वह संसदीय सचीव रह चुके हैं। ओम बिड़ला संगठन में काफी सक्रीय रहे हैं और संघ से भी उनके अच्छे रिश्ते हैं। बिड़ला सामाजिक कार्यों में बढ़-चढ़ कर हिस्सा लेते रहे हैं

जिसकी वजह से उन्हें प्रसिद्धी मिली। 2004 में कोटा में आई बाढ़ के समय उन्होंने खुब मेहनत की थी। आज तक वह किसी मंत्राीपद पर नहीं रहे। अब वह सीधे लोकसभा अध्यक्ष बन रहे हैं। बिड़ला को प्रकृतिक प्रेमी भी कहा जाता है। अब यह देखना होगा कि बिड़ला किस तरह से निष्पक्ष होकर अपनी भूमिका का निर्वहन करते हैं।

loading...

मंगलवार को बजरंगबली हुनुमान दे रहे है इन राशियों को खुशियों का संयोग …. क्या आपकी राशि ये है ?

0

मंगलवार, 18 जून 2019 के दिन सभी राशियों का राशिफल जानने के लिए पढ़ते रहिये !

मेष
आपके पास नए अवसर होंगे और उनका उपयोग करके लाभ प्राप्त करेंगे। इस प्रकार वित्तीय समृद्धि का आश्वासन दिया गया है, लेकिन पारिवारिक-जीवन में गड़बड़ी, परिवार की बिगड़ती स्वास्थ्य और संपत्ति के मामलों पर विवाद आपको निरंतर तनाव में रखेंगे।

आपको सीधे टकराव से बचने और अधिक समझौतावादी रवैया अपनाने की कोशिश करनी चाहिए। आपके स्वयं के स्वास्थ्य की भी अधिक देखभाल की आवश्यकता होती है,

क्योंकि आप अपनी आँखों या कानों को प्रभावित करने वाली कुछ छोटी बीमारियों से पीड़ित हो सकते हैं। कयासों के लिए समय ठीक नही है।

वृष
कार्यस्थल पर आपके पास अपनी योग्यता साबित करने के बेहतर अवसर होंगे। जो आपको सफलता के शिखर पर लेकर जाएंगे। आपके वरिष्ठों का व्यवहार आपके प्रति नरम रहेगा। आपका पारिवारिक-जीवन सुखी और शांतिपूर्ण रहेगा।

आपके जीवनसाथी और बच्चे बहुत प्यार और देखभाल करेंगे। सामाजिक रूप से भी आप बहुत लोकप्रियता हासिल करेंगे। वित्तीय मामलों में सुधार और निरंतर प्रगति के प्रबल संकेत हैं। किसी दूर स्थान की लंबी यात्रा हो सकती है, जो आपके लिए बहुत फलदायी रहेगी।

मिथुन
चिकित्सा और व्यर्थ के खर्चों में वृद्धि से आपकी चिंताएं बढ़ सकती हैं। आपके जीवनसाथी का स्वास्थ्य भी आपकी चिंता का सबब बन सकता है। आपके दुश्मन आपके खिलाफ गुप्त रूप से काम कर सकते हैं और आपको परेशानी दे सकते हैं।

आप एक आकस्मिक घटना के परिणाम स्वरूप चोटिल हो सकते हैं और पेशे के संबंध में यात्राएं फलहीन रह सकती हैं। अच्छे पक्ष पर आप धार्मिक प्रथाओं और ध्यान में पहल करेंगे।

कर्क
आज का दिन आपको धनी और प्रसिद्ध बना सकता है। हालांकि यह आपके जीवनसाथी के स्वास्थ्य को भी प्रभावित कर सकता है।

व्यापारिक और व्यवसायिक संदर्भ में आप मेहनती और प्रभावशाली व्यक्तियों की सहायता से अपनी स्थिति में सुधार करेंगे। चोरी की वजह से आपको नुकसान उठाना पड़ सकता है।
अत: आपको सावधान और सतर्क रहने की आवश्यकता है। आपको अपने लेखन के माध्यम से और परामर्श देकर कुछ लाभ हो सकता है।

सिंह
आपके पास धन की वृद्धि होगी और स्थिति में सुधार होगा। आप सभी प्रकार के भौतिक सुखों का आनंद लेंगे और नए अधिग्रहण हो सकते हैं। सामाजिक रूप से आपकी लोकप्रियता बढ़ेगी और अपने बच्चों की प्रगति से आप खुश रहेंगे।

अपने विरोधियों पर विजय से आपकी संतुष्टि बढ़ेगी। धन का अनियमित प्रवाह आपको तनावपूर्ण बना सकता है, किन्तु इस पर पार पाने की लिए उधार लेना कम करें।

कन्या
यह खुद को स्थापित करने का अच्छा समय है। बाधाएं और मुश्किलें भी अब दूर होने लगेगी। सोचने के बजाय अपने काम पर अधिक ध्यान केंद्रित करें और स्थितियां धीरे-धीरे आपके पक्ष में हो जाएंगी। आप अपनी बुद्धि और कौशल से अपने प्रतिद्वंद्वियों से आगे निकल जाएंगे।

आपका आत्मविश्वास बढ़ेगा। आप राजनीतिक गतिविधियों के प्रति आकर्षित होंगे और आपको कुछ नई जिम्मेदारियां भी दी जा सकती हैं। व्यवसाय विस्तार के लिए यह समय अच्छा है। वित्तीय स्थिति में सुधार होगा लेकिन अनावश्यक खर्च आपके बजट को बिगाड़ सकते हैं। आप परिवार और दोस्तों के समर्थन का आनंद लेंगे।

तुला
आज आपको कुछ उतार-चढ़ाव का सामना करना पड़ेगा। आप बहुत कुछ हासिल करना चाहेंगे, लेकिन अगर आपने जल्दबाजी में निर्णय लिए तो आपको नुकसान होगा। आपको कुछ चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता है,

किन्तु आत्मविश्वास और कौशल के बल पर आप विजयी बनेंगे। आपका अपने प्रतिद्वंद्वियों पर नजर रखना उचित होगा। यात्रा हो सकती है, जो मनोरंजक होगी और आनंद भी प्रदान करेगी। अपने खर्चों पर नियंत्रण रखें। आप थोड़े भावुक हो सकते हैं। आप अपने दोस्तों के समर्थन का आनंद लेंगे।

वृश्चिक
कमाई में वृद्धि होगी और पैसे कमाने के और जरिए बनेंगे। आपके भाई-बहन से भी आपको फायदे मिल सकते हैं। आपके पिता आपको सहयोग करेंगे, लेकिन आपको अपनी माता की सेहत की तरफ ध्यान देना पड़ेगा।

आपको अपने काम की वजह से अपने घर से दूर भी रहना पड़ सकता है। प्रेम-प्रसंगों के लिए दिन काफी अनुकूल रहने वाला है। परिवार को लेकर आप कुछ भावुक हो सकते हैं। विवाह या सगाई की बात करने के लिए समय अनुकूल है, परन्तु किसी भी मामले में जिद करने से बचें।

धनु
ऑफिस में कुछ चीजे आपको परेशान कर सकती हैं, लेकिन आपको हिम्मत के साथ उनका सामना करना होगा। आपके वरिष्ठ आपकी हिम्मत तोड़ने की कोशिश करेंगे, लेकिन आपको अपने लक्ष्य पर ध्यान केंद्रित करके रखना होगा।

आपको आपके पिता और जीवनसाथी का सहयोग मिल सकता है। आप अपने बच्चों के साथ प्यार भरा समय बिताएंगे। भाई-बहनों से किसी मामले को लेकर आपसी बहस संभव है, अत: इससे बचें। आपसी नाराजगी न बढ़ाएं। अपने शब्दों पर ध्यान रखें और गुस्सा करने से बचें। प्रेम-संबंधों में पारदर्शिता बनाए रखें। सुखद यात्रा के उत्तम योग बने हैं।

मकर
जीवनसाथी की खराब सेहत की वजह से घर में खुशियों की कमी आएगी। आप चिड़चिड़े महसूस करेंगे, किन्तु आपको शांत और संयम रखने की जरुरत है। जल्द ही सब ठीक हो जाएगा। आपके बच्चे आपका ध्यान रखेंगे।

आपको दफ्तर में आपके सहयोगियों का सहयोग मिलेगा। वरिष्ठ आपके काम को सराहेंगे। वित्तीय फैसले लेने के लिए यह बहुत अच्छा वक्त है। प्रेम-प्रसंग के मामले में आज का दिन अनुकूलता लिए हुए है।

खास कर वो लोग जो समाज की मर्यादाओ को अधिक महत्त्व नहीं देते उनके दोनो हाथों में लड्डू होने जैसी स्थिति रहने वाली है। शुरुआती दिनों में आप धन खर्च कर जीवन का आनंद तलाशने की कोशिश में रहेंगे।

कुंभ
आज आपको आपको कई वित्तीय फायदे हो सकते हैं। आप असीम दौलत के मालिक बन सकते हैं। आय के नए स्रोत बनेंगे। व्यावसायिक संदर्भ में अच्छा वक्त है, परिणाम आपके पक्ष में आएगा। आपकी निजी जिंदगी में सब कुछ बढ़िया रहेगा।

परिवार और जीवनसाथी का सहयोग मिलेगा लेकिन भाई-बहन के साथ आपका वाद-विवाद हो सकता है। दिन प्रेम-संबंधों के लिए अनुकूल तो है, किन्तु पड़ोसी से प्रेम होने की स्थिति में सावधानी से काम लेना होगा। प्रेम को पाने के चक्कर में बेवकूफ बनने से बचें।

मीन
किस्मत आपका भरपूर सहयोग देगी। आपका साहस और बुद्धि चरम पर रहेगा। सामाजिक लोकप्रियता में वृद्धि होगी। दफ्तर में वरिष्ठ आपके काम को सराहेंगे। शत्रु आपके सामने खड़े नही हो पाएंगे। घर में कोई धार्मिक या आध्यात्मिक कार्यक्रम का आयोजन किया जा सकता है।

आप परिवार के साथ अच्छा वक्त बिताएंगे और उनके लिए खर्चा भी कर सकते हैं। वाहन या घर खरीदने के लिए यह सबसे उत्तम समय है। प्रेम-संबंधों में संदेह और विवाद उत्पन्न हो सकता है। संबंधों में संतुलन बनाये रखें और बहस से बचें।

loading...

कांग्रेस में ये 2 व्यक्ति हो सकते है राष्ट्रीय अध्यक्ष…. दूसरा नाम है सबसे अलग

0

राहुल गांधी ने लोकसभा चुनाव 2019 में कांग्रेस की बुरी हार के बाद 25 मई को हुई कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक में अपने इस्तीफे की सिफारिश की थी.

जिसे कमेटी ने वापस कर दिया था. इसके बावजूद राहुल गांधी ने अपने इस्तीफे को नए अध्यक्ष के मिल जाने तक के लिए टाल दिया था.

इस मामले में एनडीटीवी इंडिया के सूत्रों ने दावा किया है कि प्रियंका गांधी भी अध्यक्ष नहीं बनेंगी. राहुल गांधी ने पिछली कार्यसमिति की बैठक में साफ भी कर दिया था कि इसमें प्रियंका गांधी को न घसीटा जाए.

वहीं सोनिया गांधी भी अपने स्वास्थ्य के चलते पार्टी में अपनी सक्रियता कम कर चुकी हैं. ऐसे में कांग्रेस के बड़े सूत्रों ने चैनल को बताया है कि अगला अध्यक्ष गांधी परिवार से नहीं होगा और उसके चयन की घोषणा अगले दो सालों में हो जाएगी.

गहलोत पर गिर सकती है गाज

चैनल के अनुसार अगला कांग्रेस अध्यक्ष वही होगा जिसपर गांधी परिवार की सहमति होगी साथ ही वह कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं को भी स्वीकार्य होगा. हार के बाद राहुल गांधी ने पार्टी में आमूलचूल बदलावों की बात कही थी.

सूत्रों के हिसाब से कहा जा रहा है कि गहलोत पर गाज गिर सकती है. राहुल गांधी ने पार्टी के कुछ वरिष्ठ नेताओं पर अपने बेटों पर पूरा ध्यान लगाने की शिकायत की थी.

पार्टी में बढ़ रही है अनुशासनहीनता

चैनल के सूत्रों के अनुसार चूंकि महाराष्ट्र में चुनाव होने वाले हैं ऐसे में किसी मराठी को कांग्रेस अध्यक्ष बनाया जाए. हालांकि एक बात साफ कर दी गई है कि अध्यक्ष के तौर पर राहुल गांधी की वापसी नहीं होगी.

दरअसल कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेताओं को लगने लगा है कि कांग्रेस के अध्यक्ष को लेकर बने भ्रम के चलते कई राज्यों में पार्टी के नेताओं में अनुशासनहीनता बढ़ती जा रही है.

शिंदे या खड़गे पर हो रहा विचार

नवभारत टाइम्स ने कांग्रेस पार्टी के सूत्रों के हवाले से लिखा है, नए उत्तराधिकारी के बारे में काफी मंथन के बाद पार्टी के सदस्यों के बीच इस बात पर सहमति बनी है कि कांग्रेस के दो कार्यकारी अध्यक्ष होने चाहिए,

उनमें से एक अगर दक्षिण भारत से हो तो पार्टी के लिए अच्छा होगा. वहीं, एक प्रस्ताव यह भी है कि कार्यकारी अध्यक्ष अनुसूचित जातियों और अनुसूचित जनजातियों में से होने चाहिए.

“इस संबंध में कुछ नाम प्रस्तावित भी किए गए हैं. इनमें अनुसूचित जाति के दो नेता सुशील कुमार शिंदे और मल्लिकार्जुन खड़गे शामिल हैं.

इनके साथ ज्योतिरादित्य सिंधिया का नाम भी युवा अध्यक्ष के तौर लिया गया है. सूत्रों ने बताया कि नया सेट-अप संसद के बजट सत्र से पहले हो सकता है.

फिलहाल राहुल गांधी केरल की वायनाड सीट से खुद को जिताने के लिए मतदाताओं का शुक्रिया अदा करने के लिए केरल गए हुए हैं. वे तीन दिन वायनाड में रहेंगे.

loading...

क्या आप जानते है क्यों बनाई जाती हैं कैबिनेट कमेटियां, क्या होता है इसका काम। … जानकर चौक जायँगे

0

लोकसभा चुनाव में एक बार फिर से जबरदस्त जीत दर्ज करने के बाद नरेंद्र मोदी ने एक बार फिर से देश के प्रधानमंत्री पद की शपथ ली,साथ ही तमाम मंत्रियों ने भी मंत्रीपद की शपथ ली।

सरकार के गठन के बाद आठ कैबिनेट कमेटियों का भी गठन किया गया है, जिसमे दो नई कमेटियां रोजगार और कौशल विकास को लेकर भी हैं।

ऐसे में सवाल यह उठता है कि आखिर इन कमेटियों का गठन क्यों किया जाता है। दरअसल यह कमेटियां भारत सरकार बिजनेस रूल्स 1961 के तहत काम करती हैं, जिसका जिक्र भारतीय संविधान के अनुच्छेद 77 (3) में किया गया है।

क्यों अहम हैं ये कमेटियां

संविधान के अनुसार सरकार के बेहतर कामकाज के लिए नियम बनाएंगे, साथ ही मंत्रालयों के मंत्रियों के बीच काम का आवंटन करेंगे। लेकिन बाद बाद में इस नियम में बदलाव किया गया,

जिसके बाद अब यह जिम्मेदारी संबंधित विभाग के मंत्री की होगी कि वह अपने मंत्रालय के कामों का आवंटन करें। लेकिन जब मामला एक से अधिक विभाग का होता है तो तब तक कोई फैसला नहीं लिया जा सकता है जबतक इससे जुड़े सभी विभाग एकमत ना हो, ऐसी स्थिति से कैबिनेट का फैसला ही मान्य होगा।

कमेटियां कैसे काम करती हैं

प्रधानमंत्री स्टैंडिंग कमेटी का गठन करते हैं, जिसमे कैबिनेट मंत्री होते हैं। इस कमेटी के सदस्यों को प्रधानमंत्री की तरफ से विशेष काम का जिम्मा सौंपा जाता है। प्रधानमंत्री कमेटी के सदस्यों की संख्या घटा या बढ़ा सकते हैं।

इसके अलावा एडहॉक कमेटी होती है, जिसमे मंत्रियों का समूह होता है, जिसके सदस्यों का चयन कैबिनेट मंत्री या प्रधानमंत्री करते हैं।

इस कमेटी की भी जिम्मेदारी किसी विशेष विषय को लेकर होती है। बता दें कि यूपी सरकार के दूसरे कार्यकाल में सरकार की नीतियां काफी ज्यादा बाधित हुई थीं क्योंकि सरकार ने अलग-अलग मंत्रियों को अलग-अलग काम सौंपा था।

नियुक्ति, आपूर्ति कमेटी

इस कमेटी का गठन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को किया है, जिसमे कुल 8 सदस्य हैं, यह सबसे प्रमुख कमेटी होती है। यह कमेटी तीनों सेवा के मुखिया का चयन करती है, जिसमे मिलिट्री ऑपरेशन के डीजी, वायुसेना और सेना के प्रमुख भी शामिल होते हैं।

इसके अलावा डिफेंस इंटेलिजेंस एजेंसी के डीजी, रक्षा मंत्री के साइंटिफिक एवडवाजर, सहित तमाम अहम मुखियाओं की नियुक्ति यही कमेटी करती है। साथ ही आरबीआई के गवर्नर और इसके चारो अहम सदस्यों की भी नियुक्त यही कमेटी करती है। वहीं आपूर्ति कमेटी तमाम संगठन के अधिकारियों को आवास आवंटित करने का काम करती है।

वित्तीय मामले, संसदीय मामले की कमेटी

वित्तीय मामलों की कमेटी तमाम आर्थिक मामलों को लेकर अपने सुझाव देती है, साथ ही अर्थव्यवस्था को बेहतर करने के लिए अपने सुझाव देती है। यह कमेटी 1000 करोड़ तक के निवेश तक के प्रस्ताव दे सकती है।

संसदीय मामलों की कमेटी संसद के सदनों को लेकर अपने सुझाव देती है, साथ ही संसद में सरकार के कामकाज पर नजर रखती है। इसके अलावा यह कमेटी गैर सरकारी कामकाज, तमाम खर्च आदि का भी ब्योरा रखती है।

राजनीतिक मामले, सुरक्षा कमेटी

राजनीतिक मामलों की कमेटी केंद्र और राज्य से जुड़ी समस्याओं का निपटारा करने में अपनी अहम भूमिका निभाती है। साथ ही तमाम आर्थिक और राजनितिक मुद्दों, आंतरिक और बाहरी सुरक्षा से जुड़े मुद्दों पर अपने सुझाव यह कमेटी देती है।

सुरक्षा कमेटी की बात करें तो यह कमेटी कानून-व्यवस्था, आंतरिक सुरक्षा, नीतिगत मामलों से जुड़े मुद्दे जिसका प्रभाव विदेश नीतियों पर पड़ता है उसपर नजर रखती है। राष्ट्रीय सुरक्षा से जुड़े आर्थिक और राजनीतिक मामलों पर भी यह कमेटी नजर रखती है।

loading...

08 जून राशिफल: जानिए कैसा रहेगा आपका दिन ….. क्या लिखा है भगवान् शनिदेव ने आपके भाग्य में

0

मेष

अपनों के प्रति सुन्दर विचार हैं मन में लेकिन कुछ चिंता भी है जो दूर नहीं हो रही, आपकीअपनी घबराहट कुछ ऐसी है जो सेहत की ओर भी इशारा कर रही हैं, अपनी तरफ से मन साफरखेंगे तो ये चिंताए भी नहीं घेरेंगी

क्या करें – ना तो पैसे को लेक शक करें, और ना ही उपलब्धियों को लेके, व्यर्थ में नेगेटिवसोचने से कोई लाभ होगा नहीं, जीवन के प्रेशर्स जो हैं वो ऐसे ही बने रहेंगे, इन्हे कबूल कर लें

क्या ना करें – सेहत को नज़र-अन्दाज़ फिर भी ना करें, अगर क्लेरिटी की कमी है तोलापरवाही नहीं, एक और ओपिनियन ले लेना, एक और सलाह ले लेना,ज़्यादा अच्छा होगा

वृषभ

आपके प्रयास आपको किसी प्यार के रिश्ते में सुख दे सकते हैं, आपकी क़ाबिलियत औरआपकी मेहनत काम को बढ़ाने में मददगार साबित हो सकती हैं, इस अच्छाई से जुड़े रहना होगा

क्या करें – लोगों से विचार-विमर्श करेंगे तो आप अपनी बात कह पाएंगे, और ये भी साबित करपाएंगे कि आप क्या कुछ कर सकते हैं, इसी वजह से आपकी सफलता को और बेहतर करने केलिए ये अच्छा समय है

क्या ना करें – अपनी ज़िम्मेदारियों को निभाने के लिए ज्ञान की ज़रूरत पड़ेगी, और ऐसा नासोचें कि ज्ञान की कमी है, अगर कमी है तो आपके भरोसे की है, आपके विश्वास की है, उसेऊंचे दर्जे का बनाना होगा

मिथुन

कोई निवेश का विचार हो सकता है मन में लेकिन उस से कोई लाभ नहीं होगा, इसलिए अपनेदिल की आवाज़ सुनें, और पीछे हट जाएं, ये समय किसी सेफ इन्वेस्टमेंट के लिए ठीक है,

क्या करें – अगर आप पैसा बैंक में रखना चाहें, तो ऐसी इन्वेस्टमेंट कर लें, वैसे भी ये समयकुछ ख़ुद की गलतियों का है इसलिए अपनी ओर से गलती ना करें

क्या करें – अपनों की भूमिका पर शक बिल्कुल ना करें, अगर आपको किसी के विचार पसंदनहीं आ रहे तो इसका ये मतलब नहीं कि आप ऐसे लोगों से दूरियां बना लें, ज़िन्दगी में आंखकी शर्म बनी रहें, और अपनी अच्छाई बरकरार रहे, लोगों से जुड़ने के रास्ते बंद नहीं होते

कर्क

मेहनत करने का समय है और मेहनत का भरपूर लाभ मिलेगा, थोड़े से प्रयास से बड़े लाभ कीओर बढ़ सकते हैं, और अपनों से भी जुड़ सकते हैं

क्या करें – अपने ख़र्चे इतने ना बढ़ाएं कि अपनों की ज़रूरतें पूरी करने में कमी रह जाए, वैसेभी ये वेस्टफुल सा समय है जिसको ज़्यादा संभालने की ज़रूरत हैं, आपकी बचत बची रहे येही अच्छा होगा

क्या ना करें – अपने ही फ़ैसलों पे अविश्वास की भावना बनाना ठीक नहीं होगा, ऐसे में अपनाभरोसा टूट जाएगा, ये ठीक नहीं है, ऐसा बिल्कुल ना करें

सिंह

आप कुछ ख़तरे में डालते चले जा रहे हैं, जो बिल्कुल ठीक नहीं है, इसी वजह से लाभ कीउम्मीद लगाना ख़तरे से खाली नहीं है, अपन पैसे से ज़ुड़े हुए फ़ैसले संभलकर लेने होंगे

क्या करें – अपनी बचत से जुड़े जो भी फ़ैसले हैं उन पर ध्यान दें, चाहे अपनी ज़रूरतों की बातहो या इनवेस्टमेंट की, अपनी बचत से खिलवाड़ बिल्कुल ना करें, ऐसा करने से नुकसान काअंदेशा है

क्या ना करें – अनजाने में भी व्यंग्य से कही हुई बात आपको दिक्कत में डाल सकती है, इसलिएअपनी अच्छाई लोगों की नज़र में ज़रूर बनाए, रिश्तों को संभालने में अपनी ओर ऐसी कोईग़लती ना करें

कन्या

लाभ तो बन जाएगा लेकिन ख़ुशी उतनी फिर भी नही मिलेगी जितनी आप चाह रहे हैं, ज़िन्दगीको तक़दीर के बलबूते पे चलाया नहीं जा सकता, सुझबूझ की ज़रूरत पड़ेगी, अपने भरोसे कोजगाने के लिए

क्या करें – काम से जुड़े हालात कुल मिलाकर मददगार हैं, और यही कारण है के बहुत कुछआपके हित में भी बनता चला जा रहा है, लेकिन संतोष की कमी आपको तनाव में डाले रहेऐसा हो सकता है, इसी वजह से ख़ुद को संयमित करने की ज़रूरत हैं

क्या ना करें – घबराहट की परिस्थियों में बिलकुल ना पड़े, घबराहट से इंसान तक़दीर कोआज़माना चाहता है और बड़े फ़ैसले लेना चाहता है, इस वजह से मन के पर्दे पर ऐसी धुंधलाहटना जमने दे जो आपकी सोच को बिगाड़ दे

तुला

बदलाव से परेशानियां पैदा होगी इसलिए अपनी इच्छाओं को थाम लें, वैसे भी कोई बड़ा कदम उत्तेजित होकर बिल्कुल इस समय ना करें, काम में इस समय की इन्वॉल्मेंट आपको बड़ा लाभ दे सकती है

क्या करें – जो भी ज़िंदगी के प्रेशर हैं उन्हे सच्चाई के रूप में क़बूल कर लें, अनजाने रास्तों पर चलने से बेहतर है कि जाने पहचाने रास्तों पर चलते चले जाएं, परेशानियां छोटी लग सकती हैं लेकिन आपको रास्ते से भटका सकती हैं,

क्या ना करें – किसी वजह से अपने दिल की ना सुनें अपने दिमाग से फ़ैसले करें, आपका मन इस समय बहुत चंचल होके, गलत फ़ैसले करा सकता है, बस ऐसा कोई गलत फ़ैसला इस समय नहीं करना है

वृश्चिक

धन लाभ के लिए भाग्यशाली स्थिति है और हर तरह का लाभ आपको ज़रूर मिलेगा, हालात भी कुछ ऐसे बन रहे हैं के आप अपने जीवन की समृद्धि को अपनों की खुशी के लिए इस्तेमाल कर पाएंगे

क्या करें – अपने आस-पास के लोगों को खुश करने का समय है, जितनी कोशिश करेंगे उतना ही लाभ ज़रूर मिलेगा लेकिन पूरी तरह से आप सम्बन्धों के तनाव को हटा दें , ऐसा फिर भी संभव होना मुश्किल है

क्या ना करें – ये मन ही है जो मानता ही नहीं, इस वजह से आपकी अपनी सोच ही आपको भटका रही है, ऐसा ना करें के सब कुछ होते हुए भी आप परेशान ही रहें, क्योंकि ऐसा फिर सोचने से कोई लाभ नहीं है

धनु

जो भी आप कर रहे हैं उसमे मानसिक दवाब हो सकता है, क्योंकि बहुत सारी छुपी हुई ऐसी परिस्थितियां है जो प्रेशर से घिरी हुई है उनका समधान नहीं हैं

क्या करें – काम से जुड़े असंतोष को तो हटाना ही पड़ेगा तभी जाके बात समझ में आएगी और तभी जाके सुख मिलेगा, आप अपने व्यवहार को धीमा कर लेंगे तो वैसे भी बहुत कुछ आपके हित में बन जाएगा

क्या ना करें – चाहे रिश्तों की बात हो या कामकाज़ की कठिनाई ना बढ़ने दें, बातें छोटी-छोटीहैं लेकिन सुखद नहीं हैं जैसा कॆ आप चाह रहे हैं, किसी व्यापार या कारोबार में पार्टनरशिप को बिगड़ने ना दें

मकर

रिश्तों की अच्छाई इसलिए है क्योंकि आप अपनों का ख़्याल रख पा रहे हैं, लेकिन कभी-कभी आपको ये लगता है कि आप अपनों के लिए उतना नहीं कर पा रहे हैं जितना आप चाह रहे हैं, ऐसा ना सोचें क्योंकि इन्सान जितना भी कर ले, उतना ही काफी होता है

क्या करें – तक़दीर आपको एक सही रास्ता दिखा रही है जिस पर आपको आगे बढ़ना है , उसमे सुख भी मिलेगा और अपने कामकाज़ को आगे बढ़ाने का मौका भी मिलेगा, इस वजह से जो alternative उन्हे भी समझ लें,

क्या ना करें – किसी प्यार के रिश्ते में शक बिल्कुल ना करें, जो इमारत भरोसे की नींव पर बनेगी, वही आपको सुख देगी, इसमे कोई गलती ना करें,

कुंभ

तनाव की वजह हो सकती है इसलिए आपके विचार सही भी हो सकते हैं लेकिन हमेशा तनाव में रहना भी किसी मसले का हल नहीं , आपको अपनों को तो समझना ही पड़ेगा तभी जाकर बात बनेगी

क्या करें – आपको ऐसा लगेगा कि हर कदम पर कुछ ना कुछ गलत हो रहा है जबकि सच्चाई ये है के ये रोज़मर्रा की चुनौतिया हैं जिससे हर व्यक्ति को रूबरू होना पड़ता है इसलिए ज़्यादा सोच के या नेगेटिव सोच के कुछ होने वाला नहीं है

क्या ना करें – ऐसा ना सोचें कि आपके प्रतिद्वंदी आपके ख़िलाफ हैं, सच्चाई ये है कि आपकी आलोचना हो सकती है लेकिन उससे बहुत ज़्यादा घबरा जाना भी ठीक नहीं है

मीन

कोई प्यार का रिश्ता आपको प्रेरित कर सकता है और आपको सही रास्ते पे चलने के लिए दिशा भी दिखा सकता है तो इस अच्छाई को समझें, और आपकी सूझबूझ इस विचार को बढ़ाने में आपकी मदद ही कर रही है

क्या करें – अपने काम के प्रदर्शन को बेहतर करना है तो उसे थोड़ा शोकेस कर लें, आपको लोगों को बताना होगा के आप क्या कर सकते हैं.

loading...

लोकसभा अध्यक्ष पद के लिए तीन नामों पर हो रही चर्चा, नंबर 4 है मजबूत दावेदार

0

17वीं लोकसभा का पहला संसदीय सत्र 17 जून से 26 जुलाई तक चलेगा, जिसमें 19 जून को लोकसभा स्पीकर का चुनाव होगा. 5 जुलाई को बजट पेश किया जाएगा.

केंद्र में अपार बहुमत के साथ सत्ता में लौटी नरेंद्र मोदी सरकार ने कई सीनियर नेताओं को इस बार कोई पद नहीं दिया है.

ऐसे में माना जा रहा है कि अध्यक्ष पद के लिए पार्टी जिसको चुनेगी, उस पर कोई विवाद नहीं होगा. अभी इस पद को लेकर तीन नामों की प्रमुखता से चर्चा है…

लोकसभा अध्यक्ष पद को लेकर है राधामोहन सिंह के नाम की चर्चा.

नंबर 1 : राधामोहन सिंह

बिहार के पूर्वी चंपारण से सांसद राधामोहन सिंह का नाम अध्यक्ष पद को लेकर खूब चर्चा में है। राधामोहन सिंह को इस बार केंद्रीय कैबिनेट में जगह नहीं मिली है।

बिहार के प्रदेश अध्यक्ष नित्यानंद राय को मोदी कैबिनेट में जगह मिली है। ऐसे में बिहार प्रदेश अध्यक्ष के लिए भी उनके नाम की चर्चा है। वहीं, छह बार सांसद रहे राधामोहन सिंह संगठन में अपनी मजबूत पकड़ के लिए लोकसभा अध्यक्ष पद की रेस में सबसे आगे हैं।

दलित नेता वीरेंद्र कुमार के नाम की भी चल रही है चर्चा.

नंबर 2 : वीरेंद्र कुमार

वीरेंद्र कुमार दलित नेता हैं। मध्य प्रदेश के सागर से चार बार और टीकमगढ़ से लगातार तीसरी बार चुनाव जीतकर लोकसभा पहुंचे हैं। वीरेंद्र कुमार को वरिष्ठता के आधार पर लोकसभा अध्यक्ष की रेस में दावेदार माना जा रहा है। दलित वोटरों को लुभाने के लिए भाजपा उनके नाम को आगे कर सकती है।

संतोष गंगवार के नाम पर भी हो रहा है विचार.

नंबर 3 : संतोष गंगवार

संतोष गंगवार भी लगातार छह बार चुनाव जीतकर लोकसभा पहुंचे हैं। 1996 में उन्हें उनकी सांगठनिक क्षमता के आधार पर उत्तर प्रदेश भाजपा का प्रदेश महासचिव बनाया गया था।
आपातकाल के दौरान सरकार विरोधी आंदोलनों के कारण जेल जा चुके संतोष गंगवार का नाम भी लोकसभा अध्यक्ष के लिए चल रहा है। हालांकि, वे केंद्रीय कैबिनेट का हिस्सा बन चुके हैं। बावजूद इसके चर्चा चल रही है।

मेनका गांधी के नाम पर सबसे अधिक हो रहा है विचार

नंबर 4 : मेनका गांधी

लोकसभा अध्यक्ष की रेस में मेनका गांधी का नाम सबसे आगे है। दरअसल, वे सीनियर नेता हैं और भाजपा उनके चेहरे को आगे कर सकती है। इससे उन्हें कांग्रेस को भी साधने में मदद मिल जाएगी।

कांग्रेस की ओर से सोनिया गांधी को संसदीय दल का नेता बनाया गया है। ऐसे में अगर मेनका गांधी लोकसभा अध्यक्ष बनती हैं तो इसका अलग असर होगा। वैसे भी मोदी सरकार के पहले कार्यकाल में एक वरिष्ठ महिला सांसद सुमित्रा महाजन को यह जिम्मेदारी दी गई थी। ऐसे में मेनका गांधी के नाम पर सबसे अधिक विचार चल रहा है।

loading...

मोदी जी की कैबिनेट में कौन है कितना पढ़ा लिखा, जानिए …. अमित शाह और सारंगी ने कितनी की है पढाई

0

देश के नए मंत्रिमंडल में मंत्रियों के विभागों का बंटवारा हो चुका है। अमित शाह देश के गृहमंत्री बने हैं।

वहीं रक्षा और वित्त विभाग भी टॉप मंत्रियों को सौंपे गए हैं। आज हम बात करने जा रहे हैं कि मोदी की कैबिनेट में कौन कितना पढ़ा लिखा है। आइए जानते हैं।

Third party image reference
अमित शाह

अमित शाह (54) को गृह मंत्रालय का कारोभार सौंपा गया है। उन्होंने बीएससी की डिग्री प्राप्त की है।

Third party image reference
राजनाथ सिंह

राजनाथ सिंह (67) को रक्षा मंत्री बनाया गया है। उनके पास एमएससी की डिग्री है। राजनाथ सिंह उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री हैं। इसके अलावा राजनाथ सिंह भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के 2 बार अध्यक्ष भी रह चुके हैं।

Third party image reference
स्मृति ईरानी

स्मृति ईरानी को महिला एवं बाल विकास और कपड़ा मंत्रालय सौंपा गया है। उन्होंने 12वीं तक शिक्षा प्राप्त की है। अमेठी से राहुल गांधी को हरा कर उन्होंने जीत हासिल की है।

Third party image reference
रविशंकर प्रसाद

रविशंकर प्रसाद (64) पहले कानून मंत्री रहे थे। अब इन्हे संचार, इलेक्ट्रोनिक्स एवं सूचना तकनीकी मंत्रालय, कानून एवं न्याय की जिम्मेदारी दी

Third party image reference
अश्विनी चौबे

अश्विनी चौबे (66) को स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री और राजयमंत्री बनाया गया है। चौबे ने ग्रेजुएशन तक पढ़ाई की है। पिछली सरकार में भी वे मंत्री पद पर रह चुके हैं।

Third party image reference
राजकुमार सिंह

राजकुमार सिंह (66) को अक्षय ऊर्जा, ऊर्जा, कौशल विकास एवं उद्यमिता मंत्रालय में राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) सौंपा गया है। सिंह ने कानून की पढ़ाई की है। राजकुमार सिंह पूर्व गृह सचिव भी रह चुके हैं।

Third party image reference
निर्मला सीतारमण

निर्मला सीतारमण पहले रक्षा मंत्री रह चुकी हैं। इस बार निर्मला सीतारमण (59) को वित्त तथा कॉरपोरेट कार्य मंत्रालय की जिम्मेदारी दी गई है। उन्होंने एम फिल तक पढ़ाई की है।

Third party image reference
नितिन गडकरी

नितिन गडकरी (62) को राजमार्ग एवं सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम मंत्रालय, सड़क परिवहन का कार्यभार मिला है। इन्होने कानून की शिक्षा हासिल की है।

Third party image reference
पीयूष गोयल

पीयूष गोयल (55) राज्यसभा सांसद हैं। उन्हें रेलवे और वाणिज्य उद्योग मंत्री बनाया गया है। गोयल ने बीकॉम, एलएलबी और सीए की पढ़ाई की है।

Third party image reference
हरसिमरत कौर

हरसिमरत कौर (53) बठिंडा से सांसद हैं। उन्हें खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्री बनाया गया है। हरसिमरत के पास टेक्सटाइल में डिप्लोमा है।

Third party image reference
नरेंद्र सिंह तोमर

नरेंद्र सिंह तोमर (61) को ग्रामीण विकास, कृषि एवं कृषक कल्याण, पंचायती राज मंत्री बनाया गया है। उन्होंने बीए की पढ़ाई की है।

Third party image reference
बाबुल सुप्रियो

बाबुल सुप्रियो (48) को पर्यावरण, वन एवं जलवायु मंत्रालय में राज्य मंत्री का कार्यभार मिला है। सुप्रियो ने बीकॉम तक पढ़ाई की है।

Third party image reference
प्रताप चंद्र सारंगी

प्रताप चंद्र सारंगी को एमएसएमई, पशु संवर्धन डेयरी एवं मत्स्य मंत्रालय में राज्य मंत्री का कार्यभार मिला है। सारंगी ने ग्रेजुएशन किया है।

loading...

महिला को होटल ले गया विदेशी युवक और कर दी ऐसी डिमांड, फिर हुआ कुछ ऐसा कि …..

0

अभी हाल ही में नई दिल्ली में अपराध का एक दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है। जिसके बारे में सुनकर आपकी रुह कांप जाएगी।

इस मामले को लेकर सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार यहां एक महिला से छेड़छाड़ के आरोप के बाद एक इथियोपियाई नागरिक को गिरफ्तार किया गया है, आरोपी की पहचान दमना गेटेचेव अकाने के रूप में हुई है।

मिली जानकारी के अनुसार 51 वर्षीय आरोपी ने पीड़िता का हाथ पकड़कर उसे उसके बगल में बैठा लिया और उसे रुपए देने की पेशकश की, जब पीड़िता अपने दोस्तों के साथ होटल में आई थी तब आरोपी ने उसके साथ गलत काम करने की इच्छा जाहिर की।

वहीं इस मामले को लेकर मिली जानकारी के अनुसार आरोपी पीड़िता को रोकने के बाद जोर जबर्दस्ती करने लगा। जिसके चलते पीड़िता ने आरोपी को थप्पड़ मार दिया।

इसके बाद पीड़ित के दोस्त मौके पर पहुंच गए और दोस्तों और आरोपियों के बीच बहस हो गई। इस दौरान ही किसी ने पुलिस को सुचना दे दी और इसके बाद पुलिस मौके पर पहुंची और आरोपी और पीड़िता और उनके दोस्तों को पुलिस स्टेशन ले गई।

इस मामले में पुलिस पीड़िता ने पुलिस पूछताछ में बताया कि आरोपी ने उसे पैसे की पेशकश की थी। वहीं इस मामले में पुलिस ने बताया कि आरोपी छुट्टी बिताने के लिए हिंदुस्तान का आया हुआ था और एक वह निजी कंपनी में कार्यरत है।

वहीं पुलिस ने पीड़िता की शिकायत के आधार पर आरोपी युवक के खिलाऱ मुकदमा दर्ज कर इस मामले की जांच शुरु कर दी है।

loading...

फ्लॉप होने के बाद भी करोड़ो के मालिक है ये 5 अभिनेता, नंबर 5 है 4800 करोड़ का मालिक

0

नमस्कार दोस्तों इस पोस्ट में हम आपको बॉलीवुड के उन 5 अभिनेताओं के बारे में बताने वाले है जो फिल्मों में फ्लॉप होने के बाद भी करोड़ो के मालिक है

यदि आप भी उन 5 अभिनेताओं के जानने के इच्छुक है तो यह लेख आपके लिए है

1. सैफ अली खान

सैफ अली खान का शुरूआती फिल्मी करियर हिट रहा था, लेकिन धीरे-धीरे अब हो फ्लॉप अभिनेताओं की श्रेणी में शामिल हो गये

सैफ अली खान ने कई बेहतरीन फिल्मों में काम किया है जिसमें ‘रेस’, ‘कॉकटेल’, ‘लव आज कल’ और ‘मैं खिलाड़ी तू अनाड़ी’ जैसी बेहतरीन फिल्में शामिल है |

सैफ अली खान के पास लगभग 1100 करोड़ रूपये की संपत्ति है | अगर सैफ अली खान और करीना कपूर दोनों की संपत्ति को जोड़ दिया जाये तो उन दोनों की कुल संपत्ति लगभग 1180 करोड़ है |

2. सिद्धार्थ मल्होत्रा

सिद्धार्थ मल्होत्रा ने करण जौहर के निर्माण में बनी फिल्म ‘स्टूडेंट ऑफ द ईयर’ से बॉलीवुड में एंट्री ली थी | 2012 में आई इस फिल्म से सिद्धार्थ मल्होत्रा, आलिया भट्ट और वरुण धवन तीनों ने बॉलीवुड में डेब्यू किया था |

सिद्धार्थ मल्होत्रा का शुरुआती फिल्मी करियर बहुत ही शानदार रहा | ‘हंसी तो फसी’, ‘एक विलेन’, ‘ब्रदर्स’, ‘बार बार देखो’ और ‘कपूर एंड संस’ जैसी बेहतरीन फिल्में सिद्धार्थ मल्होत्रा की प्रमुख फिल्में है | सिद्धार्थ मल्होत्रा के पास 67 करोड़ की संपत्ति है |

3. सनी देओल

सनी देओल 90 के दशक के सबसे बड़े एक्शन सुपरस्टार माने जाते है | उनकी 90 के दशक में कई हिट, सुपरहिट और ब्लॉकबस्टर फिल्में दी है | ‘घायल’, ‘डर’, ‘दामिनी’, ‘घातक’, ‘जीत’, ‘बॉर्डर’ और ‘गदर’ जैसी सुपरहिट फिल्में सनी देओल की प्रमुख फिल्में है |

सनी देओल के पास 87 करोड़ की संपत्ति है जिसमें से उन पर 53 करोड़ का बैंक से कर्ज बाकि है | सनी देओल के पास देओल परिवार में सबसे कम संपत्ति है |

4. अभिषेक बच्चन

सदी के महानायक अमिताभ बच्चन के बेटे अभिषेक बच्चन ने भी बॉलीवुड फिल्मों में करियर बनाने की सोची थी,

लेकिन वो अपने पिता की तरह सुपरस्टार नहीं बन सका | अभिषेक बच्चन की कुछ फिल्में ही हिट हुई है, बाकी सभी फिल्में फ्लॉप साबित हुई है |

अभिषेक बच्चन के पास 206 करोड़ रूपये की संपत्ति है | ब्लॉकबस्टर फिल्म सीरीज ‘धूम’ में अभिषेक बच्चन हमेशा ही नायक की भूमिका में नजर आते है |

5. उदय चोपड़ा

उदय चोपड़ा मशहूर फिल्ममेकर यश चोपड़ा के बेटे है | उदय चोपड़ा ने भी फिल्मों में बड़ा स्टार बनने की सोची थी, लेकिन वो बड़ा स्टार नहीं बन पाया | उदय चोपड़ा ने फिल्मों और विज्ञापनों से 36 करोड़ की संपत्ति एकत्रित की है |

इसके अलावा, उदय चोपड़ा ‘YRF’ प्रोडक्शन्स के आधे मालिक भी है जिसकी वर्तमान कीमत 9580 करोड़ है | इस हिसाब से उदय चोपड़ा के पास 4826 करोड़ की संपत्ति है |

दोस्तों, आपको इन 5 अभिनेताओं में से किसकी फिल्में सबसे ज्यादा पसंद आती है, हमें कमेंट बॉक्स में बताइए |

loading...
loading...
loading...
loading...